नई दिल्ली(टीम फिल्टर्ड): सोशल मीडिया में आज कल एक वीडियो सुर्ख़ियों में बना हुआ है वायरल हो रहे इस 26 सेकंड के वीडियो में  तीन केबल कार दिखाई दे रही है, जिसमें से एक में आग लगी हुई है। आस पास से चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनी जा सकती है।

इस वीडियो में दावा किया जा रहा है कि वीडियो हरिद्वार के मनसा देवी मंदिर झूले में आग लगने से हुए हादसे का है, जिसमें कई लोग जिंदा जल गए। एक ट्विटर उपयोगकर्ता ने इस वीडियो को इस सन्देश के साथ साझा किया

“हरिद्वार के मनसा देवी झूले में आज सुबह आग लग जाने से लोग जिन्दा जले बहुत दर्दनाक एक्सीडेंट जरूर नेहरू जी की गलती हैं”

इस वीडियो को फेसबुक और यूट्यूब पर भी खूब शेयर किया गया

Filtration(फिल्ट्रेशन)

इस वीडियो को देखने के बाद जब हमने इस खबर की पुष्टि के लिए गूगल सर्च किया तो हमे इस प्रकार की भी खबर नहीं मिली। अब हमने इसकी सचाई पता लगाने के लिए जब वीडियो का स्क्रीनशॉट लेकर रिवर्स इमेज सर्च किया तो  पता चला कि वीडियो भारत का नहीं है। हमारी पड़ताल में हमे  मेट्रो UK प्रकाशन का एक लेख मिला। यह फिलिस्तीन की चार साल पुरानी घटना से संबधित वीडियो है, खबर के अनुसार एक टीवी प्रोग्राम के शूट के दौरान प्रोडक्शन असिस्टेंट ने बिना अनुमति लिए केबल कार में ही पटाखा जला दिया था, जिससे उसमें आग लग गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक,”दो लोगों को मामूली चोटें आयी थी और उनका उपचार भी कराया गया “-(अनुवाद)। यह घटना मार्च 2015 में हुई थी।

इसे कई बड़े बड़े मीडिया हाउस ने पब्लिश भी किया था इसके साथ ही इस चार साल पुराने फिलिस्तीन की घटना के वीडियो को हरिद्वार, उत्तराखंड में झूले में लगी आग के झूठे दावे से साझा किया जा चुका है। अगर हम वीडियो सुनाई दे रही आवाज़ों को अगर ध्यान से सुने तो सुनाई दे भाषा भारतीय नहीं है।

निष्कर्ष

अतः पड़ताल से साफ है कि वायरल वीडियो भारत का नहीं बल्कि फिलिस्तीन का है। केबल कार में लगी आग में सिर्फ दो लोगों को हल्की चोटें आई थी।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *